समाचार
एनआईए को केरल और अन्य सोना तस्करी मामले में मिले दाऊद और आतंकियों के तार

केरल सोना तस्करी मामले में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) की तफ्तीश में सामने आया कि इसमें कुछ आरोपियों के संबंध अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और आतंकियों से भी हैं। अब मामले में विदेशी आतंकियों के तार होने के संदेह वाले दृष्टिकोण के साथ जाँच की जा रही है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, राजस्थान पुलिस ने तीन जुलाई को 18.5 किलोग्राम सोना जब्त किया था। 28 अगस्त को नई दिल्ली में राजस्व और खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने अवैध सोने की छड़ों को जब्त किया, जिनका वजन 83 किग्रा था।

एनआईए ने दोनों मामलों की जाँच की ज़िम्मेदारी ली है। उन्हें संदेह है कि घटना में बड़ी अंतरराष्ट्रीय साजिश हो सकती है, जिसमें आतंकी और सोना तस्कर शामिल हो सकते हैं। इन मामलों के पीछे एनआईए आईएसआई की भूमिका से भी इनकार नहीं कर रही है।

एनआईए ने पिछले बुधवार को कोच्चि की विशेष अदालत को बताया था कि तस्करी मामले में शामिल दो आरोपियों के संबंध भगोड़े अपराधी और डॉन दाऊद इब्राहिम के गिरोह से हैं। इन आरोपियों ने कई बार अफ्रीकी देश तंजानिया का दौरा भी किया है, जहाँ अंडरवर्ल्ड डॉन का व्यापक नेटवर्क है।

यह पहली बार है कि देश में सोने की तस्करी के मामलों में आतंकवादी अधिनियम, गैरकानूनी गतिविधियाँ (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) लागू किया गया है। शुरुआत में केरल सोने की तस्करी मामले में यूएपीए लागू किया गया था और बाद में जयपुर और नई दिल्ली बरामदगी वाले मामले भी इसके दायरे में आए।