समाचार
यूरोपीय संसद में बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक के बहिष्कार की घोषणा कर प्रस्ताव पारित

यूरोपीय संसद ने 2022 में होने वाली बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक के बहिष्कार की घोषणा करते हुए कई प्रस्ताव पारित किए। सांसदों ने सहमति जताते हुए कहा कि हमें चीन के मानवाधिकारों के हनन के कारण ओलंपिक निमंत्रण को अस्वीकार करना चाहिए।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा, “चीन खेल के राजनीतिकरण और मानवाधिकारों के मुद्दों को बहाने के रूप में उपयोग करके हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का कड़ा विरोध करता है। राजनीतिक प्रेरणा से आयोजन को बाधित करने के प्रयास अनुत्तरदायी हैं।”

यूरोपीय संसद के सांसदों ने अपनी सरकारों से मांग करते हुए कहा कि उन्हें उइगर मुसलमानों को लेकर चीन के व्यवहार पर अधिक प्रतिबंध लगाने चाहिए। साथ ही हॉन्ग-कॉन्ग में लोकतंत्र समर्थकों का समर्थन भी करना चाहिए।

संसद में पारित प्रस्तावों में हॉन्ग-कॉन्ग के सरकारी अधिकारियों पर प्रतिबंध के अलावा चीन के साथ प्रत्यर्पण संधि को तत्काल खत्म करने और बीजिंग ओलंपिक राजनयिक बहिष्कार का आह्वान किया।

प्रस्ताव पेश करने वाले जर्मनी के रेइनहार्ड बुटिकोफर ने कहा, “यह स्पष्ट है कि कई यूरोपीय संघ के सदस्य देश और यूरोपीय आयोग भी हॉन्ग-कॉन्ग में चीन के दमनकारी उपायों के विरुद्ध बोलने के लिए अनिच्छुक हैं। यूरोपीय संघ में चीन की बढ़ती आलोचना के बाद भी यूरोप की कई सरकारें सीधे टकराव से हिचकिचा रही हैं।”