समाचार
एर्दोगन समर्थित संगठन कश्मीर-केरल में कट्टरपंथी इस्लामिक संगठनों को दे रहे पैसा

कश्मीर और केरल में कट्टरपंथी इस्लामिक संगठनों को तुर्की के संगठनों से धन प्राप्त हो रहा है, जो कि रिसप तैयप एर्दोगन द्वारा समर्थित हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, नई दिल्ली के अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि तुर्की पाकिस्तान के बाद भारत विरोधी गतिविधियों के सबसे बड़े केंद्र के रूप में उभरा है। इसमें भारतीय मुसलमानों को कट्टरपथी बनाने और इस्लामी कट्टरपंथियों के भर्ती के प्रयास शामिल हैं।

तुर्की सरकार ने वर्षों से कश्मीरी अलगाववादी सैयद अली शाह गिलानी को फंडिंग दी थी। उसने हाल ही के वर्षों में अपने प्रयासों को तेज कर दिया है। इसमें धार्मिक आयोजनों के लिए फंड और अपनी शिक्षाओं को लागू करने के लिए तुर्की के नए कट्टरपंथियों को शामिल करना है।

एक अधिकारी ने कहा, “हम इस समूह के कुछ लोगों के बारे में जानते हैं, जो कतर की यात्रा कर रहे और तुर्की के कुछ लोगों से मिलकर अपनी गतिविधियों के लिए धन की तलाश कर रहे हैं। केरल में कट्टरपंथी इस्लाम के प्रचार के लिए 40 लाख रुपये तक की राशि दी जा रही है।”