समाचार
अफगानिस्तान में सक्रिय विदेशी आतंकियों में से 6,500 पाकिस्तानी- यूएन रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि अफगानिस्तान में सक्रिय विदेशी लड़ाकों में 6,500 पाकिस्तानी आतंकवादी हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, जानकारी मिली है कि पाकिस्तान आधारित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा विदेशी आतंकवादियों को युद्धग्रस्त देश में लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जिसमें से पाकिस्तानी आतंकियों का एक बड़ा हिस्सा होता है।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के विश्लेषणात्मक समर्थन और प्रतिबंधों की निगरानी करने वाली टीम ने पाकिस्तान के लिए तीखी रिपोर्ट तैयार की। यह गत माह जारी की गई थी। रिपोर्ट में बताया गया कि इन विदेशी आतंकवादियों ने अपनी गतिविधियों और देश में स्थायी उपस्थिति की वजह से अफगानिस्तान में सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा पैदा किया है।

यह गौर किया जाना चाहिए कि गत वर्ष से ऐसी रिपोर्ट आ रही हैं, जिनमें दावा किया गया कि जैश और लश्कर आतंकियों को पनाह देने के लिए विश्व समुदाय से पाकिस्तान पर बढ़ रहे दबाव के बाद वे उन्हें अफगानिस्तान भेज रहे हैं।

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने इस पर गंभीर चिंता व्यक्त की। उन्होंने जोर देकर कहा कि रिपोर्ट भारत के दीर्घकालिक स्थिति का संकेत देती है कि पाकिस्तान अंतर-राष्ट्रीय आतंकवाद का केंद्र बना हुआ है।