समाचार
निजी क्षेत्र के कर्मचारियों का 10 प्रतिशत ही पीएफ में कटेगा, एनबीएफसी को सहायता

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार (13 मई) को बताया कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के साथ जुड़े 72.22 लाख कर्मचारियों को 2,500 करोड़ रुपये की तरलता सहायता दी जाएगी। निजी क्षेत्र के कर्मचारियों की आय से अगले तीन माहों तक पीएफ में 12 प्रतिशत की जगह 10 प्रतिशत ही कटेंगे। इससे उनके हाथ में कुल 6,750 करोड़ रुपये अधिक आएँगे।

30,000 करोड़ रुपये की विशेष तरलता योजना गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के लिए है। इससे आवास क्षेत्र और एमएसएमई को भी बल मिलेगा। एनबीएफसी के लिए 45,000 करोड़ रुपये की आंशिक ऋण गारंटी योजना भी है जिसके तहत शुरुआती 20 प्रतिशत घाटा भारत सरकार उठाएगी। बिजली वितरण कंपनियों के लिए 90,000 करोड़ रुपये का प्रवाधान किया गया है।