समाचार
बिहार में भाजपा के वैक्सीन वादे को चुनाव आयोग ने आचार संहिता का उल्लंघन नहीं माना

भाजपा ने बिहार विधानसभा चुनावों के लिए जारी घोषणा पत्र में मुफ्त कोविड-19 वैक्सीन देने का वादा किया है। इसको अन्य पार्टियों ने आचार संहिता का उल्लंघन बताया है लेकिन शनिवार (31 अक्टूबर) को चुनाव आयोग ने ऐसा मानने से इनकार कर दिया है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, इस संबंध में आरटीआई कार्यकर्ता साकेत गोखले ने शिकायत दर्ज करवाई थी। इस पर जवाब देते हुए आयोग ने कहा, “मामले में आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन नहीं किया जा रहा है।” गोखले ने दावा किया था कि यह वादा केंद्र सरकार द्वारा सत्ता का दुरुपयोग है।”

आयोग ने आदर्श चुनाव आचार संहिता में निहित चुनाव घोषणा-पत्रों के लिए कुछ दिशा-निर्देशों का हवाला दिया और बताया कि मुफ्त वैक्सीन का वादा आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है।

उधर, राजद, कांग्रेस, शिवसेना, सपा और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बिहार के लिए मुफ्त वैक्सीन मुहैया करवाने वाले भाजपा के वादे पर सवाल उठाया है। उनका कहना है कि भाजपा मामले की राजनीतिकरण करने में जुटी है। राहुल गांधी ने कहा, “राज्यवार चुनावों से यह पता चल सकेगा कि किस राज्य को कब वैक्सीन उपलब्ध हो सकेगी।”