समाचार
ईईएसएल को मिली ई-मोबिलिटी को बढ़ावा देने के लिए पहली इलेक्ट्रिक कार

एमजी मोटर इंडिया ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार एमजी जेडएस ईवी सोमवार (27 जनवरी) को राज्य के स्वामित्व वाली एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज़ लिमिटेड (ईईएसएल) को सौंपी है।

ईईएसएल ने पाँच एमजी जेडएस इलेक्ट्रिक वाहनों को लेने का ऑर्डर दिया था, जिसका इस्तेमाल सरकारी अधिकारी करेंगे। इसका उद्देश्य नेशनल ई-मोबिलिटी प्रोग्राम के तहत इवीएस की खरीद को गति देना है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, ईईएसएल द्वारा यह कदम आर्थिक विकास और पर्यावरण की स्थिति को संतुलित करते हुए उठाया गया है।

ईईएसएल के प्रबंध निदेशक सौरभ कुमार ने कहा, “भारत एक नए युग की दहलीज पर खड़ा है, जो स्थिरता से संचालित होगी। ईवी के साथ चलना ही भविष्य है क्योंकि यह प्रदूषण संकट को रोकने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। साथ ही महंगे जीवाश्म ईंधन पर देश की निर्भरता को कम करेगा।”

ईईएसएल बड़े पैमाने की अर्थव्यवस्थाओं का लाभ उठाने के लिए थोक में इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद की मांग को एकत्रित कर रहा है। अब तक, कुल 1,510 ई-कारें प्रसारित की गई हैं और अन्य 500 के पंजीकरण होने हैं।

पूरे ई-मोबिलिटी इकोसिस्टम को तेजी देने के लिए केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय ई-मोबिलिटी कार्यक्रम शुरू किया था, जिसमें वाहन निर्माता, बुनियादी ढाँचा कंपनियाँ, बड़े संचालक और सेवा प्रदाता शामिल हैं।