समाचार
अनिल देशमुख को ईडी ने भेजा तीसरा नोटिस, 5 जुलाई को पूछताछ के लिए बुलाया

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कथित रिश्वत और जबरन वसूली के आरोप में पूछताछ के लिए तीसरा नोटिस भेजा है। उन्हें जाँच एजेंसी ने 5 जुलाई को अपने बयान दर्ज करवाने के लिए बुलाया है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, अनिल देशमुख को इससे पूर्व दो नोटिस जारी किए जा चुके थे लेकिन वह कोरोना से संक्रमित होने का खतरा बताते हुए ईडी के समक्ष पेश नहीं हुए थे। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अपना बयान दर्ज करवाने के लिए कहा था।

बता दें कि इससे पूर्व, अनिल देशमुख के नागपुर और मुंबई स्थित आवासों पर 25 जून को प्रवर्तन निदेशालय की टीमों ने छापेमारी की थी। एजेंसी ने उनके दो सहयोगियों निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को गिरफ्तार कर लिया था। दोनों 6 जुलाई तक ईडी की हिरासत में हैं।

कहा जा रहा है कि ईडी मामले में देशमुख से कुछ मुखौटा कंपनियों के साथ उनके व परिवार के सदस्यों के कथित संबंधों के बारे में पूछताछ करना चाहती है। इनका उपयोग मुंबई पुलिस व्यवस्था में रिश्वतखोरी के आरोपों के सामने आने से बहुत पहले से ही धन शोधन के लिए किया जा रहा था।