समाचार
मनी लॉन्ड्रिंग- हरियाणा के एसआरएस समूह की 2500 करोड़ की संपत्ति ईडी ने की जब्त

हरियाणा के एसआरएस समूह के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग और धोखाधड़ी के मामले में गुरुवार को बड़ी कार्रवाई की। समूह की 2500 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्तियाँ जब्त कर ली गई हैं।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, ईडी की टीम ने बताया, “एसआरएस समूह, उसके प्रवर्तकों, परिवार के सदस्यों और सहायक कंपनियों की चल और अचल संपत्तियाँ जब्त की गई हैं। इनमें जमीन, रियल एस्टेट परियोजनाएँ, वाणिज्यिक परियोजनाएँ, आवासीय इकाइयाँ, सिनेमा हॉल आदि हैं।”

एजेंसी के मुताबिक, इन संपत्तियों की कुल कीमत 2510.82 करोड़ रुपये आँकी गई है। मनी लॉन्ड्रिंग रोधक कानून (पीएमएलए) के तहत इन संपत्तियों की कुर्की का अस्थायी आदेश जारी कर दिया गया है।

समूह और उसके प्रवर्तकों पर आरोप है कि उन्होंने रियल एस्टेट इकाइयाँ मसलन दुकानों, प्लॉट, फ्लैट और अपार्टमेंट में निवेश पर ऊँचे रिटर्न का वादा कर निवेशकों के साथ धोखाधड़ी की है। हरियाणा (फरीदाबाद) और दिल्ली पुलिस इस मामले में समूह के खिलाफ दर्ज अलग-अलग आपराधिक मामलों की जाँच कर रही है।