समाचार
अवैध खनन मामले में प्रवर्तन निदेशालय करेगा अखिलेश यादव समेत अन्य की जाँच

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व कुछ नौकरशाहों पर अवैध खनन मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है, अधिकारियों ने गुरुवार को बताया। जिनपर सीबीआई जाँच चल रही थी, उनपर ईडी ने अर्थशोधन निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। अब ईडी इस बात की जाँच करेगा कि कथित अवैध धन को आरोपियों द्वारा वैध बनाया गया था या नहीं।

2012-16 में हमीरपुर जिले में हुए अवैध खनन की जाँच के दौरान सीबीआई ने इस माह में 14 जगहों पर छापे मारे थे व 11 लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की है जिसमें आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला, सामाजवादी पार्टी के रमेश कुमार मिश्रा व संजय दीक्षित शामिल हैं, टाइम्स ऑफ़ इंडिया  ने बताया।

“इस मामले की जाँच में तत्कालीन खनन मंत्रियों की भूमिका को भी देखा जाना चाहिए।”, सीबीआई एफआईआर में कहा गया। 2012 से 2017 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव ने 2012-13 में खनन विभाग संभाला था इसलिए एफआईआर के अनुसार इस मामले में उनकी भी जाँच होगी।