समाचार
अनिल देशमुख के सहयोगी सागर भटेवार के नागपुर स्थित आवास पर ईडी ने की छापेमारी

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के करीबी सहयोगी सागर भटेवार के नागपुर स्थित आवास पर छापेमारी की।

जाँच एनसीपी नेता के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले से संबंधित है क्योंकि भटेवार कथित तौर पर देशमुख के परिवार द्वारा नियंत्रित कई फर्मों के निदेशक हैं।

असलियत में 40 से अधिक कंपनियों के खाते जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से नेता द्वारा नियंत्रित किए जाते हैं, वर्तमान में ईडी द्वारा उनकी जाँच की जा रही है। इसके अतिरिक्त, देशमुख के परिवार द्वारा संचालित कंपनियों के निदेशक मंडल में अन्य लोगों के बयान भी एजेंसी द्वारा दर्ज किए जाएँगे।

सीबीआई द्वारा दर्ज एक प्राथमिकी के आधार पर ईडी ने पहले भी राज्य के पूर्व कैबिनेट मंत्री के खिलाफ अवैध रूप से रिश्वत लेने की शिकायत दर्ज की थी। सीबीआई का कहना है कि उसने कुछ अनुचित लाभ लेने के लिए अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किया और मुंबई पुलिस में स्थानांतरण और पोस्टिंग को भी प्रभावित किया।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, अनिल देशमुख के वित्तीय लेन-देन की जाँच ईडी मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त द्वारा लगाए गए आरोपों के आधार पर कर रही है। दरअसल, एनसीपी नेता पर आरोप है कि उन्होंने पुलिस अधिकारियों को मुंबई में रेस्त्रां और बार से 100 करोड़ रुपये की मासिक जबरन वसूली करने का निर्देश दिया था।