समाचार
यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के आवास पर ईडी ने मारा छापा, लुकआउट नोटिस जारी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के शुक्रवार शाम को यस बैंक के 30 दिनों में पुनर्गठन के आदेश के कुछ घंटे बाद ही बैंक के संस्थापक राणा कपूर के मुंबई स्थित आवास पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने छापेमारी की। उनके खिलाफ जाँच एजेंसी ने मामला भी दर्ज किया है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, छापेमारी के दौरान यस बैंक से जुड़े दस्तावेजों को तलाशा गया है। कहा जा रहा है कि राणा कपूर को लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। अब वह जाँच पूरी होने तक देश से बाहर नहीं जा पाएँगे।

गुरुवार को आरबीआई ने यस बैंक के जमाकर्ताओं के लिए 50,000 रुपये निकासी की सीमा तय की थी, तब सबको इसके बुरी दशा में होने की जानकारी हुई थी। उसके बाद राणा कपूर ने कहा था कि वो गत 13 माह से सक्रिय नहीं हैं इसलिए इस बारे में कुछ नहीं कह सकते। बैंक ने भी 2019 में शेयर मार्केट को बताया था कि राणा कपूर बोर्ड से पूरी तरह बाहर हो चुके हैं।

बैंक के संस्थापक पर आरोप है कि उन्होंने निजी रिश्तों को ध्यान में रख कर्ज बाँटे। उन्होंने अनिल अंबानी ग्रुप, आईएलएंडएफएस, सीजी पावर, एस्सार पावर, एस्सेल ग्रुप, रेडियस डिवेलपर्स और मंत्री ग्रुप जैसे समूहों को ऋण बाँटे। इन कंपनियों के दिवालिया होने से बैंक की यह हालत हुई। इनको कर्ज देने में राणा कपूर की सहमति रही थी। 2018 में उन पर कर्ज और बैलेंसशीट में गड़बड़ी के आरोप लगे थे। उसके बाद आरबीआई ने उन्हें अध्यक्ष के पद से हटा दिया था।

इससे पूर्व, वित्त मंत्री ने कहा था, “इस बात का पता लगाया जाएगा कि यस बैंक को संकट में पहुँचाने में व्यक्तिगत रूप से कौन जिम्मेदार है। बैंक की 2017 से निगरानी हो रही थी। जाँच एजेंसियों को भी बैंक में अनियमितताओं का पता चला है।”