समाचार
बीआरओ ने समय से पूर्व बारालचा ला दर्रे का मार्ग खोलकर सैनिकों की आवाजाही बढ़ाई

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने बारालचा ला दर्रे पर सैनिकों की आवाजाही की अनुमति देते हुए रणनीतिक लाभ हासिल करने के लिए समय से पूर्व ही मार्ग को खोल दिया है।

एएनआई ने बीआरओ के अधिकारियों के हवाले से कहा कि बरालचा ला दर्रा 16,043 फीट की ऊँचाई पर मनाली-सरचू मार्ग पर ज़ांस्कर पर्वतमाला में सबसे ऊँचे पर्वत दर्रे में से एक है। यह हिमाचल प्रदेश के लाहौल जिले को लद्दाख के लेह से जोड़ता है।

बीआरओ प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चौधरी ने बताया कि इतिहास में पहली बार शुरुआती समय सीमा में दर्रा खोलने की योजना बनाई गई है।

सीमा सड़क संगठन के अधिकारियों ने कहा, “इससे क्षेत्र के लोगों को देश के बाकी हिस्सों से जुड़ने में मदद मिलेगी और वस्तुओं से भरे अपने वाहनों को आगे के बज़ारों तक पहुँचा सकेंगे।”