समाचार
पार्ले-जी बिस्किट ने लॉकडाउन के दौरान आठ दशकों में सबसे अधिक बिक्री की

पार्ले-जी ने कोविड-19 महामारी के दौरान मील का पत्थर स्थापित किया है। घरेलू कंपनी, जिसे दशकों तक आम आदमी के बिस्किट के रूप में भी जाना जाता है, उसने महामारी के दौरान सबसे अधिक बिस्किट बेचे हैं।

मार्च, अप्रैल और मई के दौरान कोविड-19 से लड़ने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा हुई थी। इन तीन महीनों में उसकी बिक्री बढ़कर गत 80 से ज्यादा वर्षों में सबसे अधिक हुई।

पार्ले उत्पादों ने बिक्री की विशिष्ठ आँकड़े पेश नहीं किए हैं। नज़र आया कि इस कंपनी के बिस्किट ने लॉकडाउन के दौरान अन्य चीजों की तुलना में अच्छा और बेहतर किया है क्योंकि इसे आम आदमी ने पहले ही काफी संख्या में खरीद लिया था या फिर लोगों राहत सामग्री देने के दौरान इसका उपयोग किया गया।

पार्ले उत्पादों के कैटेगरी हेड मयंक शाह के हवाले से कहा गया, “लॉकडाउन के दौरान पार्ले-जी कई लोगों के लिए भोजन का आसान साधन बन गया था। यही नहीं, कई अन्य लोगों के लिए यह भोजन का ही एकमात्र सहारा था। यह एक आम आदमी का बिस्किट है, जो लोग रोज-रोटी नहीं खरीद सकते हैं, वो पार्ले-जी खरीद सकते हैं।

इस रिपोर्ट में कहा गया कि पार्ले-जी अप्रैल और मई के महीने में बिक्री के मामले में मील का पत्थर स्थापित किया है। इसने देश भर में फैले 120 निर्माताओं को सक्रिय किया था।