समाचार
भारतीय जवानों के लिए 16 वर्षीय युवक ने बनाया विशेष ड्रोन, जानें कैसे होगी सहायता

गुजरात के एक 16 वर्षीय युवक हर्षवर्धन ज़ाला ने ‘ईगल 47’ नामक ड्रोन का आविष्कार किया है जो भूमिगत माइन्स को ढूँढकर उन्हहें नष्ट करने की क्षमता रखता है, फाइनेन्शियल एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया।

ज़ाला के अनुसार, “यह तकनीक कहीं और उपलब्ध नहीं है। इसमें बहु-वर्णकर्मीय लैंड माइन डिटेक्शन तकनीक का प्रयोग होता है जो भूमिगत माइनों का पता लगा सकती है।”

इस ड्रोन को ऊर्जा एक बैटरी बॉक्स से मिलती है। मुख्य तकनीकी बॉक्स ग्राउंड स्टेशन को सिग्नल भेेजता है जहाँ से यह माइक्रो-कंप्यूटर द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

विदेशों से विभिन्न प्रस्ताव मिलने के बाद ज़ाला ने भारतीय सेना के लिए तकनीक विकसित करने का निर्णय लिया है। “मेरे पास विदेश में काम करने के कई प्रस्ताव आए पर मेरी इच्छा है कि में भारतीय सेना और सीआरपीएफ के लिए ड्रोन विकसित कर क्रियन्वित करूँ जिससे हमारे जवानों को शहीद होने से बचाया जा सके।”, ज़ाला ने एएनआई  को बताया।