समाचार
एयरो इंडिया में डीआरडीओ करेगा 300 से अधिक उत्पाद, प्रौद्योगिकी व नवाचार प्रदर्शित

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) बेंगलुरु के येलहनका वायुसेना स्टेशन में 3 से 5 फरवरी 2021 तक आयोजित होने वाले एयरो इंडिया अंतरराष्ट्रीय हवाई शो के 13वें संस्करण में अपनी नवीनतम रक्षा प्रौद्योगिकियों का प्रदर्शन करने को तैयार है।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में शुक्रवार (29 जनवरी) को कहा गया कि द्विवार्षिक रूप से आयोजित एयरो इंडिया उत्साही एयरोस्पेस, भावी रक्षा उद्योगों, आकांक्षी स्टार्टअप, वैश्विक रक्षा व एयरोस्पेस क्षेत्रों में अग्रिम भागीदारियों का गवाह बनने, कई राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल और उद्योगों के साथ बातचीत करने का एक मंच देता है।

विमानों के विकास से जुड़ी डीआरडीओ की 30 से अधिक प्रयोगशालाएँ इस बड़े कार्यक्रम में अपने उत्पादों और तकनीकी उपलब्धियों का प्रदर्शन करेंगी। विज्ञप्ति में कहा गया कि 300 से अधिक उत्पादों, प्रौद्योगिकियों और नवाचारों को इनडोर, आउटडोर, स्थिर और फ्लाइंग डिस्प्ले के जरिए प्रस्तुत किया जाएगा।

आयोजन में डीआरडीओ की भागीदारी का प्रमुख आकर्षण एयरबॉर्न अर्ली वार्निंग एंड कंट्रोल (एईडब्लूयएंडसी) सिस्टम, लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एलसीए) तेजस और एलसीए नेवी का फ्लाइंग डिस्प्ले होगा।

इनडोर सिस्टम के मुख्य आकर्षण में कॉम्बैट फ्री फॉल सिस्टम, एडवांस्ड मीडियम कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एएमसीए), अभय- हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट, ट्विन इंजन डेक बेस्ड फाइटर (टीईडीबीएफ), एलसीए और एयरोस्टेट सिस्टम्स के लिए एफसीएस सिस्टम शामिल हैं।

इंजीनियरिंग उत्पादों में यूएवी के लिए एयरक्राफ्ट माउंटेड एक्सेसरी गियर बॉक्स (एएमएजीबी), एएमएजीबी ब्रिंग, एमआरएसएएम लॉन्चर और टू-स्ट्रोक सिंगल-डबल-फोर-सिलेंडर इंजन शामिल हैं। इसके अलावा, डीआरडीओ की मिसाइल और मिसाइल संबंधी तकनीकों का भी प्रदर्शन किया जाएगा।