समाचार
जम्मू-कश्मीर में डीआरडीओ स्थापित करेगा विज्ञान व प्रौद्योगिकी के लिए अनुसंधान केंद्र

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय के बीच गुरुवार (26  सितंबर) को जम्मू-कश्मीर में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए एक नया अनुसंधान केंद्र स्थापित करने को लेकर एमओयू लाया गया।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए। एक अधिकारी ने कहा, “नया केंद्र जम्मू के केंद्रीय विश्वविद्यालय में स्थापित किया जाएगा। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के सम्मान में केंद्र का नाम कलाम सेंटर फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी (केसीएसटी) होगा।”

अधिकारी ने कहा, “सहमति पत्र का मुख्य उद्देश्य बहुविषयी बुनियादी और प्रायोगिक अनुसंधान और कम्प्यूटेशनल सिस्टम सिक्यॉरिटी एंड सेंसर में प्रौद्योगिकी विकास करना है।”

अधिकारियों के अनुसार, केंद्र अत्याधुनिक सुविधाओं और उपकरणों से लैस होगा, जो क्षेत्र में अनुसंधान वैज्ञानिकों की संख्या बढ़ाने में मदद करेगा। डीआरडीओ के अध्यक्ष जी सतेश रेड्डी ने कहा, “केंद्र को जल्द विश्वस्तरीय सुविधाओं से विकसित किया जाएगा।”

पूर्व राजनयिक और सीयूजे चांसलर जी पार्थसारथी ने कहा, “अनुसंधान केंद्र की स्थापना में डीआरडीओ की कोशिश गुणवत्ता अनुसंधान को बढ़ावा देने को क्षेत्र के वैज्ञानिकों का लंबे समय के लिए समूह बनाना है।”