समाचार
डीआरडीओ ने स्वदेश में बनाया 500 किलो का गाइडेड बम, पोखरण में किया सफल परीक्षण

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने स्वदेश में बने 500 किलो वजन के इनर्शियल गाइडेड बम का सफल परीक्षण किया। इसे सुखोई विमान के ज़रिए टारगेट किया गया।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, गाइडेड बम का परीक्षण राजस्थान के जैसलमेर जिले में स्थित पोखरण फायरिंग रेंज में हुआ। बम 30 किमी के क्षेत्र में अपने लक्ष्य को सटीक रूप से मार गिराने में सक्षम निकला।

इनर्शियल गाइडेट बम को स्मार्ट बम भी कहा जा सकता है क्योंकि यह अपने सटीक निशाने के साथ बेहद आधुनिक हथियार है। इससे पहले डीआरडीओ ने देश में विकसित किए गए स्मार्ट हथियार जैसे कि एंटी एयरफील्ड वेपन (एसएएडब्ल्यू) और हेलिकॉप्टर से मार करने वाली एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का परीक्षण किया था।

इस तरह के स्मार्ट बम या कारगर हथियारों का इस्तेमाल उच्च स्तर की सटीकता के साथ लक्ष्य को पूरी तरह से नष्ट करने के लिए किया जाता है। ऐसे आधुनिक हथियारों का बड़े पैमाने पर अमेरिका, रूस और चीन की सेना द्वारा उपयोग किया जाता है। इन्हीं से प्रेरित होकर भारत में भी ऐसे हथियार बनाए जाने शुरू कर दिए गए हैं।