समाचार
उत्तर प्रदेश- पति दूसरी बार कराना चाहता था निकाह-हलाला, महिला ने मांगा न्याय

उत्तर प्रदेश के बरेली में एक महिला को दूसरी बार निकाह-हलाला के लिए उकसाने की बात तब सामने आई जब मंगलवार को तलाक के बाद मिलने वाली रखरखाव राशि के संबंध में यह मामला कोर्ट पहुँचा, टाइम्स ऑफ इंडिया  ने बताया।

महिला का निकाह 5 जुलाई 2009 को हुआ था लेकिन बच्चे को जन्म न दे पाने के कारण महिला के ससुराल वाले उसके साथ दुर्व्यवहार करते थे। “उसे कई दिनों तक भोजन भी नहीं दिया जाता था।”, पीड़िता की बहन ने शपथ-पत्र में बताया।

15 दिसंबर 2011 को पहली बार उसे तीन तलाक दिया गया और उसके पति ने उसे पुनः अपनाने के लिए उसके ससुर के साथ निकाह-हलाला करने को कहा। जब पीड़िता ने इससे इनकार किया तो उसे बेहोश करके इस पद्धति को पूरा किया गया। “10 दिनों तक उस बूढ़े व्यक्ति ने मेरी बहन के साथ बलात्कार किया और फिर तीन तलाक देकर उसके पति से निकाह करने को कहा।”, पीड़िता की बहन ने बताया।

जनवरी 2017 में उसे फिर से तलाक दिया गया और इस बार उसके देवर के साथ निकाह-हलाला करने को कहा गया। इसके बाद पीड़िता ने कोर्ट में मामला दर्ज किया और तलाक के बदले में रखरखाव राशि की मांग की। कोर्ट की अगली सुनवाई 15 फरवरी को होगी।