समाचार
गठबंधन टूटने पर पछता रहे चंद्रबाबू नायडू, “वापसी के द्वार हमेशा के लिए बंद”- भाजपा

“भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कभी भी चंद्रबाबू नायडू की तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के साथ गठबंधन नहीं बनाएगी।” यह बात गुरुवार को प्रदेश के एक भाजपा नेता ने कही।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले सप्ताह विशाखापत्तनम में एक पार्टी की बैठक के दौरान चंद्रबाबू नायडू ने कहा था, “एनडीए के साथ संबंधों को तोड़ने के फैसले से पार्टी को काफी क्षति हुई है। इसके परिणामस्वरूप पार्टी को चुनावों के बाद अब तक नुकसान उठाना पड़ रहा है।”

2018 में भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने और उनके खिलाफ चुनाव प्रचार करने वाले नायडू के बयान के जवाब में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और आंध्र प्रदेश के प्रभारी सुनील वी देवधर ने कुरनूल में बयान दिया। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “टीडीपी के लिए दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए हैं। किसी भी कीमत पर उनके साथ गठबंधन का कोई सवाल ही नहीं बनता है।”

देवधर ने कहा, “यह अध्याय अब बंद हो चुका है। नायडू भाजपा के साथ संबंध तोड़ने के लिए पछता रहे हैं लेकिन यह हमारे निर्णय को नहीं बदलेगा।”

गठबंधन टूटने के बाद तेदेपा लोकसभा और आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में बुरी तरह हार गई थी। साथ ही प्रदेश के नए मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने उनके खिलाफ जाँच बैठा दी है। इसमें राज्य सरकार ने नायडू के वर्तमान निवास को गिराने के लिए एक नोटिस दिया है।