समाचार
राफेल समीक्षा याचिका पर सुनवाई-संजय सिंह के अपमानजनक बयान पर न्यायालय नाराज़

बुधवार (6 फरवरी) को सर्वोच्च न्यायालय में राफेल सौदे पर हो रही सुनवाई में अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने बताया कि रक्षा मंत्रालय से किसी कर्मचारी द्वारा कथित  दस्तावेज़ चुराए गए हैं।  आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता द्वारा समीक्षा याचिका पर सर्वोच्च न्यायलय में आज सुनवाई हो रही थी जिसमे सर्वोच्च न्यायालय ने लड़ाकू विमान से सम्बन्धी कोई भी अतिरिक्त दस्तावेज़ को लेने से इनकार कर दिया। वहीँ अटॉर्नी जनरल ने बताया है कि चोरी किये हुए दस्तावेज़ों की छानबीन के लिए जांच के आदेश दे दिए गए है लेकिन इस मामले में अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं हुई है।

सर्वोच्च न्यायालय ने आप नेता संजय सिंह की याचिका पर सुनवाई करने से इन्कार कर दिया है और आज की सुनवाई को स्थगित करते हुए अगली सुनवाई की अगली तारिख 14 मार्च बताई है। सर्वोच्च न्यायालय ने संजय सिंह द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के जजमेंट पर दिए गए बयान को अपमानजनक बताते हुए कहा है कि राफेल सौदे पर सुनवाई ख़त्म होने के बाद और संजय सिंह को कोर्ट को सफाई देने के बाद उनपर अपमानजनक बयान देने के खिलाफ सुनवाई की जाएगी।

राफेल सौदे पर दो रिव्यु याचिका दर्ज हुई थी जिसमे एक आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता संजय सिंह द्वारा की गई थी और दूसरी प्रशांत भूषण और पूर्व केंद्र मंत्री यशवंत सिंह और अरुण शौरी द्वारा दर्ज की गयी थी। जिसके बाद इस मामले पर सुनवाई हो रही है।