समाचार
कोविड-19 वैक्सीन संबंधित सुविधाओं को देखने 64 देशों के राजनयिक पहुँचे हैदराबाद

कोविड-19 के खिलाफ भारत के वैक्सीन कार्यक्रम के तहत 64 देशों के राजदूत हैदराबाद स्थित प्रमुख जैव प्रौद्योगिकी कंपनियों भारत बायोटेक और बायोलॉजिकल ई के दौरे पर आए हैं।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, आधिकारिक सूत्रों ने कहा, “यह दौरा विदेश मंत्रालय की कोविड-19 संबंधी पहल के हिस्से के तौर पर आयोजित किया गया है। इसके बाद अन्य शहरों में वैक्सीन संबंधित सुविधाओं का दौरा किया जाएगा। भारत के वैक्सीन के प्रयासों में अन्य देशों द्वारा बहुत दिलचस्पी ली जा रही है।”

भारत बायोटेक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक डॉक्टर कृष्णा एला ने उन्हें इसके बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया, “33 प्रतिशत वैश्विक वैक्सीन जीनोम वैली में उत्पादित की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वैक्सीन मानवता के लिए उपलब्ध होगी। हैदराबाद में सबसे बड़ी एफडीए द्वारा स्वीकृत वैक्सीन सुविधाएँ हैं।”

सूत्रों की मानें तो एक महीने पूर्व भारतीय विदेश मंत्रालय ने 190 से अधिक देशों के राजनयिक मिशनों और प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठनों को कोविड-19 वैक्सीन के विकास से संबंधित मुद्दों पर जानकारी दी थी। ये राजनियक अन्य शहरों में भी जाएँगे।

उधर, भारतीय राष्ट्रीय नियामक प्राधिकरण सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ) फाइजर, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक के वैक्सीन को लेकर दिए गए आवेदनों की समीक्षा करेगा। तीनों कंपनियों ने वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को लेकर अनुमति मांगी है। इस संबंध में वैक्सीन को लेकर गठित विशेषज्ञ समूह बैठक करेंगे।