समाचार
निजी क्रिप्टोमुद्रा पर प्रतिबंध व भारतीय डिजिटल मुद्रा लाने के लिए विधेयक पेश करेगा केंद्र

एक महत्वपूर्ण विकास में भारत जल्द ही सभी निजी क्रिप्टोमुद्रा पर प्रतिबंध लगा सकता है। इसके अलावा, वह अपनी खुद की स्वायत्त वाली डिजिटल मुद्रा लॉन्च कर सकता है क्योंकि केंद्र सरकार संसद के बजट सत्र में उसी के लिए एक विधेयक पेश करने की तैयारी कर रही है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, क्रिप्टोमुद्रा एवं आधिकारिक डिजिटल करेंसी नियमन विधेयक 2021 शीर्षक वाला यह विधेयक देश के आधिकारिक डिजिटल मुद्रा के सृजन के लिए एक सुगम ढाँचे की शुरुआत करेगा, जो भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा जारी किया जाएगा। खास बात यह है कि चीन पहले से ही पाँच साल के लिए डिजिटल युआन पर काम कर रहा है।

हालाँकि, यह गौर किया जाना चाहिए कि विधेयक सभी निजी क्रिप्टोमुद्रा को प्रतिबंधित करने की कोशिश करता है। वहीं, यह कुछ अपवादों को अनुमति देता है, ताकि इसकी अंतर्निहित तकनीक और इसके उपयोग को बढ़ावा दिया जा सके।

इस पर भी गौर करना चाहिए कि इससे पूर्व आरबीआई ने लेन-देन के लिए बैंकिंग प्रणाली के उपयोग के माध्यम से भारत में क्रिप्टोमुद्रा पर प्रतिबंध लगाया था। फिर बाद में मार्च 2020 में सर्वोच्च न्यायालय ने इस प्रतिबंध को रद्द कर दिया था।