समाचार
“दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले विकास होबे”: मोदी पुरुलिया के सीताकुंड पर भी बोले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (18 मार्च) को पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में जन सभा को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस के चुनावी नारे ‘खेला होबे’ पर निशाना साधते हुए कहा, “दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले चाकरी होबे। दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले विकास होबे, दीदी बोले खेला होबे, भाजपा बोले शिक्षा होबे… खेला शेष होबे, विकास आरंभ होबे।”

बंगाल का विकास न करने के लिए उन्होंने पिछली सरकारों तथा तृणमूल की राजनीतिक हिंसा की भी आलोचना की। “पहले वाम मोर्चा सरकार, फिर तृणमूल कांग्रेस ने यहाँ उद्योगों को विकसित नहीं होने दिया। सिंचाई के लिए जैसा काम होना चाहिए था, वैस नहीं हुआ। तृणमूल सरकार अपने ‘खेल’ में व्यस्त थी और किसानों पर ध्यान नहीं दिया गया।”, मोदी ने कहा।

उन्होंने पुरुलिया को रामायण से जोड़ते हुए कहा, “इस भूमि ने भगवान राम और माता सीता के वनवास को देखा है। इस धरा पर सीताकुंड है। यह भी कहा जाता है कि जब देवी सीता प्यासी थीं, तब राम ने धरती को बाण से भेदकर यहाँ से पानी निकाला था… यह विडंबना है कि आज पुरुलिया जल अभाव से ग्रसित है।”