समाचार
देविंदर सिंह आतंकियों की मदद के लिए हिजबुल से पूरे साल का वेतन लेता था- जाँचकर्ता

आतंकियों की मदद करते हुए रंगे हाथ पकड़े गए पूर्व डीएसपी देविंदर सिंह को हिजबुल मुजाहिद्दीन की ओर से पूरे साल का वेतन मिलता था। जाँचकर्ताओं ने इस बात का खुलासा किया है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी देविंदर सिंह आतंकी नवीद मुश्ताक के साथ 11 जनवरी को पकड़ा गया था। कहा जा रहा है कि देविंदर ने न सिर्फ नवीद को ले जाने और छिपने के लिए जगह देने के हिजबुल से पैसे लिए थे बल्कि पूरे साल मदद करते रहने के लिए भी वह नियम से पैसे लेता रहता था।

एक अधिकारी ने बताया, “जब देविंदर को पकड़ा गया था तो वह नवीद को ठहराने के लिए जम्मू ले जा रहा था। उसके बाद उसे वहाँ से पाकिस्तान जाना था। हालाँकि, पाकिस्तान जाने के लिए वे क्या रास्ता लेते, इसकी जाँच की जा रही है।”

उन्होंने बताया, “आरोपी पुलिस अधिकारी 20-30 लाख रुपये के लिए समझौता कर रहा था लेकिन उसे पूरा पेमेंट नहीं दिया गया था। वह पहले भी ऐसे नवीद को जम्मू ले जा चुका था।” अधिकारियों ने बताया कि देविंदर जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। वह अपने फोन में मौजूद नंबरों को भी नहीं पहचान रहा है।