समाचार
एंटीलिया- कार के मालिक की सुरक्षा की फडणवीस ने की थी मांग, कुछ देर बाद मिला शव

मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर मिली चोरी की कार के मालिक मनसुख हिरेन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस इसे आत्महत्या मान रही है। कहा जा रहा है कि मनसुख ने कालवा ब्रिज से कूदकर अपनी जान दी।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। वहीं घटना से कुछ देर पूर्व ही भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने जाँच अधिकारी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि हिरेन को सुरक्षी दी जानी चाहिए। उनकी जान को खतरा हो सकता है।

फडणवीस ने शुक्रवार को विधानसभा में मामले की जाँच एएनआई से कराने की मांग की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि घटना के जाँच अधिकारी सचिन वझे और मनसुख हिरेन पहले से संपर्क में थे। उन्होंने एक सीडीआर भी पेश की है।

भाजाप नेता ने कहा, “जिस दिन गाड़ी चोरी हुई, जहाँ उनकी गाड़ी बंद हुई, वह वहाँ से क्राफ्ट मार्केट आए। उन्होंने एक व्यक्ति से मुलाकात की। वह शख्स कौन है। मुकेश अंबानी के घर के बाहर गाड़ी मिली तो स्थानीय पुलिस से पहले पुलिस अधिकारी सचिन वाझे वहाँ कैसे पहुँचे। उन्हीं को चिट्ठी कैसे मिली। जो जानकारियाँ मुझे मिल रही हैं, उससे लगता है कि कुछ गड़बड़ है।”

हिरेन मनसुख की लाश मिलने के बाद मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमबीर सिंह और संयुक्त पुलिस आयुक्त मिलिंद भारम्बे अभी विधान भवन पहुँचे। उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार किया है। यह भी जानकारी मिल रही है कि हिरेन के परिवार ने आज ही गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। वहीं हिरेन का शव ठाणे के नाले से बरामद किया गया।

बता दें कि मनसुख की चोरी हुई कार, जो एंटीलिया के बाहर खड़ी मिली थी, उसमें से जिलेटिन की 20 छड़ें बरामद हुई थीं। साथ ही एक धमकीभरा पत्र भी मिला था।