समाचार
पेरियार की रैली पर कथित टिप्पणी को लेकर प्रदर्शन, रजनीकांत नहीं मांगेंगे माफी

तमिल के सुपरस्टार रजनीकांत के घर के बाहर ईवी रामासामी पेरियार पर की गई कथित टिप्पणी को लेकर थनथाई पेरियार द्रविदर कझगम के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। इस पर उनका कहना है, “मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा, जिसकी वजह से मुझे माफी मांगनी पड़े।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, रजनीकांत का कहना है, “मैंने ये बातें खुद नहीं की हैं। ये सब मीडिया में प्रकाशित हुई हैं। मैं उन्हें यह दिखा सकता हूं। मैं इसके लिए बिल्कुल भी माफी नहीं मांगूँगा।”

द्रविदार विधुतलाई कड़गम के सदस्यों ने रजनीकांत के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। कड़गम की शिकायत में उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 153 (ए) के तहत मामला दर्ज करने की मांग की गई है।

रजनीकांत ने बीते दिनों एक पत्रिका को दिए साक्षात्कार में वर्ष 1971 में निकाली गई एक रैली का जिक्र किया था। उनके मुताबिक, “सलेम में पेरियार ने एक रैली निकाली थी। इसमें भगवान राम और सीता की वस्त्रहीन तस्वीरें मौजूद थीं। वह हिंदू देवताओं के कट्टर आलोचक थे लेकिन उस समय किसी ने पेरियार की आलोचना नहीं की थी।” इसी बयान पर आपत्ति जताई गई।