समाचार
दिल्ली पुलिस ने संबित पात्रा के ट्वीट को छेड़छाड़ वाला बताने पर ट्विटर को भेजा नोटिस

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के एक ट्वीट को ट्विटर ने तोड़-मरोड़ कर पेश किए गए मीडिया की श्रेणी में डाल दिया गया था। अब दिल्ली पुलिस ने इस मामले में सोशल मीडिया कंपनी को नोटिस जारी किया है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस की स्पेशल शाखा ने ट्विटर से पूछा कि कंपनी के पास ऐसे क्या तथ्य हैं, जिसके आधार पर उसने टूलकिट को लेकर किए गए ट्वीट को तोड़-मरोड़ कर पेश किए जाने वाले मीडिया की श्रेणी का बताया था।

कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार ने ट्विटर से ट्वीट को तोड़-मरोड़ कर पेश किए जाने वाली मीडिया की श्रेणी के टैग को हटाने के लिए कहा है क्योंकि मामला कानून प्रवर्तन एजेंसी के सामने लंबित है। उसने कंपनी से कहा कि चीजों की जाँच की सत्यता जाँच एजेंसी करेगी ना कि ट्विटर। इस वजह से वह जाँच प्रक्रिया में रोड़ा न बने।

बता दें कि संबित पात्रा के अलावा, राज्यसभा सांसद विनय सहस्रबुद्धे, पार्टी की राष्ट्रीय सोशल मीडिया प्रभारी प्रीति गांधी, आंध्र प्रदेश के सह प्रभारी सुनील देवधर, भाजपा मीडिया पैनलिस्ट चारू प्रज्ञा, भाजपा दिल्ली महासचिव कुलजीत सिंह चहल के सत्यापित खातों से पोस्ट किए गए ट्वीट्स को ट्विटर ने छेड़छाड़ के रूप में टैग कर दिया था।

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ट्विटर की वैश्विक टीम को एक पत्र लिख कर कहा था कि स्थानीय कानून प्रवर्तन एजेंसी की इस मामले में एक पक्ष द्वारा दर्ज की गई शिकायत पर पहले से ही जाँच चल रही है। ट्विटर ने पुलिस की जाँच के पूरा होने की प्रतीक्षा किए बिना टूलकिट मामले में एकतरफा निष्कर्ष निकाल लिया, जो गलत है।