समाचार
जयपुर गोल्डन अस्पताल का दिल्ली सरकार पर ऑक्सीजन आपूर्ति में गड़बड़ी का आरोप

दिल्ली के रोहिणी में स्थित जयपुर गोल्डन अस्पताल के वकील ने अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार पर कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच ऑक्सीजन आपूर्ति में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया है।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, जयपुर गोल्डन अस्पताल के वकील ने कहा, “अस्पताल ऑक्सीजन की कमी और आपूर्ति की अनिश्चितता दोनों का सामना कर रहा है लेकिन इस संकट के बावजूद दिल्ली सरकार ने उनसे बात करना ही बंद कर दिया है।”

उन्होंने आरोप लगाया, “हमने कई एसओएस नंबरों पर फोन किए लेकिन दिल्ली सरकार द्वारा वे बंद बताए गए। कृपया करके वे बताएँ कि मौतें शुरू होने से कितने घंटे पहले हमें उन्हें फोन करना चाहिए?”

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार की नौकरशाही पूरी तरह से विफल रही है। वह आपूर्ति शृंखला को नहीं समझते हैं और इसे बाधित करते हैं। उन्होंने न्यायालय के सामने गुहार लगाई कि अस्पताल को बिना किसी नौकरशाही हस्तक्षेप के सीधे ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता से निपटने की अनुमति दी जाए।

सुनवाई के दौरान एक अन्य अस्पताल के वकील ने कहा, “एक वकील व एक इंसान के रूप में हाथ जोड़कर दिल्ली सरकार से मेरा सिर्फ यह अनुरोध है कि कृपया उस सहायता को स्वीकार करें, जो व्यवसायी आपको देने को तैयार हैं।”

बीते कुछ दिनों में दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में काफी वृद्धि देखी गई है, जिसमें कई गंभीर मरीज़ों को ऑक्सीजन की कमी जैसी परेशानियों से जूझना पड़ा था। इसके बाद इस कमी का मुकाबला करने के लिए कई सामाजिक कार्यकर्ता और लोग आगे आ गए हैं।

अरविंद केजरीवाल सरकार कोरोना की दूसरी लहर के दौरान टीवी चैनलों पर बड़ी संख्या में विज्ञापनों के प्रसारण के आरोप में भी घिर गई है।