समाचार
राजनाथ सिंह की रूस से हथियारों की जल्द आपूर्ति पर बैठक, चीन चाहता भारत से वार्ता

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शंघाई संगठन सहयोग (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लेने के लिए रूस की राजधानी मॉस्को में हैं। उन्होंने रूसी रक्षा मंत्री के साथ गुरुवार (3 सितंबर) को बैठक की। इस दौरान हथियारों की आपूर्ति में तेज़ी लाने के लिए भारत ने दबाव डाला। उधर, एलएसी पर तनाव के बीच चीन के रक्षा मंत्री ने अपनी तरफ से भारत के साथ बैठक का अनुरोध किया है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंघे ने सीमा पर जारी तनाव को देख राजनाथ सिंह के साथ आज बैठक करने की गुज़ारिश की। हालाँकि, अभी भारत की ओर से इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी गई।

तीन दिवसीय दौरे के दौरान राजनाथ सिंह ने रूसी रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोयगू के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक की। इस दौरान पूर्व में हुए समझौतों के तहत भारत द्वारा रूस पर कई हथियार प्रणालियों, गोला-बारूद और कल पुर्जों की आपूर्ति में तेजी लाने के लिए दबाव डाला गया।

रक्षा मंत्री ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा, “रूसी रक्षा मंत्री के साथ बैठक बहुत अच्छी रही। हमने कई मुद्दों पर बात की। खासकर, इस पर कि दोनों देशों के बीच रक्षा और रणनीतिक सहयोग को कैसे बेहतर किया जाए।”

दिन में भारत और रूस ने एक-203 राइफल भारत में बनाने के लिए एक बड़े समझौते को अंतिम रूप दिया। एके-203, एके-47 राइफल का उन्नत रूप है। यह इंडियन स्मॉल ऑर्म्स सिस्टम (इनसास) की जगह लेगी। रूसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक ने जानकारी दी कि भारत को करीब 7,70,000 एके-203 राइफलों की आवश्यकता है। इनमें से 1,00,000 का आयात किया जाएगा और शेष का विनिर्मिण भारत में होगा।