समाचार
राजनाथ सिंह ने दार्जिलिंग के सुकना में की शस्त्र पूजा, सैनिकों संग मनाई विजयादशमी

चीन से सीमा पर तनातनी के बीच भारतीय सैनिकों का मनोबल बढ़ाने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह उनके साथ विजयादशमी मना रहे हैं। वह रविवार (25 अक्टूबर) सुबह दार्जिलिंग के सुकना वॉर मेमोरियल पर पहुँचे और वहाँ शस्त्र पूजा की।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, रक्षा मंत्री ने इस दौरान कहा, “भारत चाहता है कि सीमा पर चल रहा तनाव खत्म हो। हालाँकि, कभी-कभी नापाक हरकत होती रहती है। मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूँ कि हमारे सेना के जवान किसी भी कीमत पर अपने देश की एक इंच भी ज़मीन किसी दूसरे के हाथों में जाने नहीं देंगे।”

स्मारक पर शस्त्र पूजा के दौरान रक्षा मंत्री के साथ सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी मौजूद रहे। राजनाथ ने स्मारक पर पहले श्रद्धांजलि अर्पित की और वीर जवानों को याद किया।

सिक्किम में एक एक्सल रोड का ई-उद्घाटन करने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा, “19.35 किलोमीटर लंबे वैकल्पिक एनएच 310 का निर्माण करके बीआरओ ने पूर्वी सिक्किम के लोगों और सेना की आकांक्षाओं को पूरा किया। बीआरओ सिक्किम के अधिकांश सीमावर्ती सड़कों का डबल लेन में तब्दील कर रहा है। इसमें से पूर्वी सिक्किम में 65 किलोमीटर सड़क निर्माण-कार्य प्रगति पर है और 55 किलोमीटर सड़क निर्माण योजना के तहत है।

उन्होंने आगे कहा, “प्रधानमंत्री के दिशा-निर्देश में पूर्वोत्तर राज्यों में इंफ्रास्ट्रक्चर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बीआरओ के पास पूर्वोत्तर क्षेत्र में कुल 8090 किमी लंबाई की सड़के हैं। इनमें से 5734 किमी निर्माण योजना में है। नॉर्थ सिक्किम में भारतमाला परियोजना के अन्तर्गत मंगन-चुगथांग-यूमेसेमडोंग और चुगंथांग-लाचेन-जीमा-मुगुथांग-नाकुला तक 225 किमी डबल लेन सड़क का निर्माण कार्य होना है। ये कार्य 9 पैकेजों में निर्धारित हैं, जिनकी अनुमानित लागत 5710 करोड़ रुपये है।