समाचार
वामपंथी दलों के समर्थन में जेएनयू पहुँचीं दीपिका पर नहीं दिया कोई सार्वजनिक बयान

अभिनेत्री दीपिका पादुकोण, अपनी फिल्म ‘छपाक’ की रिलीज से कुछ दिन पहले, मंगलवार (7 जनवरी) शाम जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) पहुँचीं और जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष और कन्हैया कुमार जैसे वामपंथी छात्र नेताओं के साथ खड़ी रहीं।

इससे पहले, विशाल भारद्वाज, अनुराग कश्यप, अनुभव सिन्हा, ज़ोया अख्तर, दीया मिर्ज़ा, राहुल बोस, ऋचा चड्ढा, स्वानंद किरकिरे, रेमा कागती, हंसल मेहता, सयानी गुप्ता, गौहर खान और तापसी पन्नू सहित बॉलीवुड हस्तियों ने जेएनयू हिंसा को लेकर मुंबई में गेटवेेे ऑफ इंडिया पर विरोध प्रदर्शन किया था।

वामपंथी नेतृत्व वाले जेएनयूएसयू ने हमलों के पीछे एबीवीपी को दोषी ठहराया है, जबकि एबीवीपी ने वामपंथी को दोषी ठहराया है और वामपंथियों के खिलाफ अलग-अलग सबूतों की ओर इशारा किया गया है, जिसमें एक वीडियो क्लिप भी शामिल है, जिसमें जेएनयूएसयू की नेता आइशी घोष नकाबपोश हमलावरों के बीच चलते दिखाई दे रही हैं। अभी तक, मामला अस्पष्ट है।

हमले में दोनों पक्षों के छात्र घायल हुए हैं। हालाँकि, बॉलीवुड की अन्य हस्तियों के साथ तालमेल रखते हुए, दीपिका को भी वामपंथियों के साथ बैठे देखा गया।

कथित तौर पर, दीपिका दस मिनट तक जेएनयू कैंपस में रही, आइशी घोष और अन्य वाम नेताओं से मुलाकात की लेकिन कोई सार्वजनिक भाषण नहीं दिया।

कल, दीपिका पादुकोण ने विरोध प्रदर्शन के बारे में एनडीटीवी से बात करते हुए कहा था उन्हें गर्व है, “लोग डरे हुए नहीं हैं।”

“मुझे गर्व है कि हम डरते नहीं हैं। मुझे लगता है कि मैं खुद को व्यक्त करने में सक्षम हूँ। मुझे लगता है कि हम इस तथ्य के बारे में सोच रहे हैं और हमारे देश के भविष्य के बारे में .. यह देखकर अच्छा लगता है कि लोग सड़कों पर आ रहे हैं।” यह कहने (खुद को) व्यक्त करने के लिए क्योंकि यदि हम परिवर्तन देखना चाहते हैं, तो यह बहुत महत्वपूर्ण है।”, दीपिका पादुकोण ने कहा।