समाचार
बठिंडा में ग्राम पंचायत का निर्णय- हर घर से एक सदस्य दिल्ली जाए, नहीं तो भरे जुर्माना

कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में पंजाब के बठिंडा जिले में आने वाले विर्क खुर्द की ग्राम पंचायत ने निर्णय सुनाया है कि गाँव के हर परिवार से एक सदस्य को तुरंत दिल्ली सीमा पर जाना होगा। अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो 1500 रुपये जुर्माना देना होगा, वरना सामाजिक बहिष्कार होगा।

टाइम्स नाऊ हिंदी की रिपोर्ट के अनुसार, पंचायत के इस अजीब निर्णय के बाद राज्य की अन्य पंचायतों में भी ऐसे ही प्रस्ताव पारित करने की तैयारी चल रही है।

विर्क खुर्द पंचायत के सरपंच मंजीत कौर ने बताया, आदेश में कहा गया कि जो भी आंदोलन में शामिल होना चाहता है, उसे न्यूनतम सात दिन दिल्ली की सीमा पर रहना होगा। अगर आंदोलन में किसी के वाहन को नुकसान होता है तो पूरे गाँव कि ज़िम्मेदारी होगी कि वह नुकसान की भरपाई करे।

गणतंत्र दिवस में किसानों द्वारा की गई हिंसा के बाद सरकार के कड़े तेवर को देखकर कई किसान धरना स्थल से वापस लौटने लगे हैं। इसी को देखते हुए भारतीय किसान यूनियन (दोआबा) गाँवों के गुरुद्वारों को यह घोषणा करने के लिए कह रहा है कि आंदोलन अब भी जारी है और किसी तरह की अफवाह पर ध्यान दिए बिना सीमा पर जाकर अपना योगदान दें।