समाचार
आईएनएस किलटन मदद लेकर पहुँचा वियतनाम, दक्षिण चीन सागर में करेगा युद्धाभ्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने वियतनामी समकक्ष के साथ द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन आयोजित किया था। इसके बाद भारतीय नौसेना का युद्धपोत आईएनएस किलटन गुरुवार (24 दिसंबर) को मध्य वियतनाम में बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए 15 टन मानवीय राहत आपूर्ति के साथ दक्षिण-पूर्व एशियाई देश के हो ची मिन्ह शहर पहुँचा।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, लड़ाकू जलपोत हो ची मिन्ह के ना रंग बंदरगाह पर सरकार के मिशन सागर-3 के एक हिस्से के रूप में पहुँचा। इसके तहत भारत कोविड-19 महामारी के दौरान मित्र देशों को मानवीय सहायता और आपदा राहत सहायता का नेतृत्व कर रहा है।

खास बात यह है कि आईएनएनस किलटन अब 26-27 दिसंबर को दक्षिण चीन सागर में वियतनाम पीपुल्स नेवी के साथ एक संपर्क और सहयोग संबंधी अभ्यास करेगा। दक्षिण चीन सागर एक विवादित क्षेत्र है। राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने चीन के नेतृत्व वाले संप्रभु क्षेत्र के रूप में यहाँ अपने दावे किए हैं।

आईएनएस किलटन की यात्रा का उद्देश्य दो नौसैनिक बलों के बीच समुद्री सहयोग को बढ़ाना और क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता को मजबूत करना है। यह विकास दोनों देशों में चीन के आक्रामक रवैयों के बारे में बढ़ती चिंताओं के बीच आता है।