समाचार
प्रशासनिक सुलभता के लिए एक केंद्र शासित प्रदेश होंगे दमन-दीव और दादरा-नगर हवेली

अनुच्छेद 370 हटने और जम्मू कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद सरकार दमन एवं दीव और दादरा एवं नगर हवेली केंद्र शासित प्रदेशों को एक करने के लिए संसद में प्रस्ताव लाने की योजना बना रही है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार दोनों केंद्र शासित प्रदेशों में बेहतर प्रशासनिक व्यवस्था और विभिन्न कार्यों के प्रतिलिपिकरण की जाँच जैसे विषयों केे चलते ही केंद्र सरकार ने यह कदम उठाने का निर्णय लिया है।

बता दें कि दोनों केंद्र शासित प्रदेश एक-दूसरे से मात्र 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं और दोनों केंद्र शासित प्रदेशों के पास अपना-अपना सचिवालय और बजट है।

इस विलय से प्रशासनिक खर्चे कम होंगे और दमन एवं दीव एक जिला और दादरा एवं नगर हवेली दो जिलों के साथ एक हो जाएँगे।

इस नव-निर्मित केंद्र शासित प्रदेश का नाम दादरा नगर हवेली-दमन दीव होगा जिसका मुख्यालय दमन एवं दीव होगा।

जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख के बाद वर्तमान में भारत में नौ केंद्र शासित प्रदेश हैं और दमन एवं दीव और दादरा नगर हवेली के बाद यह संख्या आठ रह जाएगी।