समाचार
फास्टैग से प्रतिदिन टोल संग्रह हुआ करीब ₹104 करोड़, 20 लाख नए उपयोगकर्ता जुड़े

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) का दैनिक टोल संग्रह इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह प्रणाली फास्टैग के माध्यम से करीब 104 करोड़ रुपये के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुँच गया है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस सप्ताह टोल संग्रह ने प्रत्येक दिन 100 करोड़ रुपये का आँकड़ा पार किया। यही नहीं, 25 फरवरी को 64.5 लाख से अधिक लेन-देन के साथ 103.94 करोड़ रुपये के उच्च स्तर को छू लिया।

एनएचएआई द्वारा जारी बयान के अनुसार, फास्टैग के सुचारू कार्यान्वयन से इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह के लेन-देन में 20 प्रतिशत और फास्टैग के माध्यम से उपयोगकर्ता शुल्क के संग्रह में 27 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है।

यह भी गौर किया जाना चाहिए कि गत दो सप्ताह में करीब 20 लाख नए फास्टैग उपयोगकर्ता जोड़े गए हैं। अब उपयोगकर्ताओं की कुल संख्या 2.8 करोड़ हो गई है।

एनएचएआई ने बयान में कहा कि राजमार्ग उपयोगकर्ताओं द्वारा इसको अपनाने से टोल परिचालन में अधिक दक्षता लाने में मदद मिलेगी। इससे भविष्य में सड़क संपत्ति का सही मूल्याँकन हो सकेगा और अधिक निवेशकों को देश के राजमार्ग ढाँचे में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकेगा।