समाचार
सीईआरटी-इन की चेतावनी- कोविड-19 के बहाने बड़े पैमाने पर हो सकते हैं साइबर हमले

साइबर सुरक्षा के लिए सरकार की नोडल एजेंसी सीईआरटी-इन ने कोविड-19 की आड़ में बड़े पैमाने पर साइबर हमलों की आशंका पर एक चेतावनी जारी की है। इसमें कोरोबारियों और व्यक्तिगत रूप से लोगों को निशाना बनाने की बात कही गई है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, सीईआरटी-इन ने अपने परामर्श में रेखाँकित किया कि ऐसे साइबर हमलावरों के पास 20 लाख लोगों की ई-मेल आइडी हो सकती है, जिनको वो निशाना बना सकते हैं। दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई और अहमदाबाद में रहने वाले लोगों के पास कोविड-19 की मुफ्त जाँच कराने के बहाने वो ई-मेल भेज सकते हैं।

सीईआरटी-इन के अनुसार, यह आशंका है कि हमलावर सरकारी एजेंसियों, विभागों और उनसे संबंधित निकायों के नाम पर ncov2019@gov.in जैसी ई-मेल आईडी का उपयोग करके सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान करने की बात कह सकते हैं।

ई-मेलों को इस तरह से डिज़ाइन किए जाने की उम्मीद है, जो कि एक लालच के रूप में होगा। एक बार इसे ई-मेल प्राप्त करने वाला यूजर खोलता है तो उन्हें नकली वेबसाइटों पर ले जाया जाएगा। वहाँ उन्हें मालेशियस फाइल्स डाउनलोड करने या निजी व वित्तीय जानकारियाँ भरने को कहा जाएगा।

एजेंसी ने ई-मेल उपयोगकर्ताओं को सलाह दी है कि वे अवांछित ई-मेल में कोई अटैचमेंट न खोलें। भले ही वो जानने वालों से ही क्यों न प्राप्त हुआ हो। एजेंसी ने उपयोगकर्ताओं को एंटी-वायरस टूल, फायरवॉल और फिल्टरिंग सेवाओं का उपयोग करने की भी सलाह दी है। साथ ही ऐसी किसी भी असमान्य गतिविधियों या साइबर हमले की जानकारी तुरंत सीईआरटी-इन को देने की बात भी कही है।