समाचार
कश्मीर में ज़ाकिर मूसा की मौत के बाद कई जगह कर्फ्यू, विरोध प्रदर्शन

सुरक्षाबलों से गुरुवार को मुठभेड़ के दौरान शीर्ष आतंकवादी नेता ज़ाकिर मूसा के मारे जाने के बाद कश्मीर के कुछ हिस्सों में शुक्रवार को अहतियात के तौर पर कर्फ्यू लगा दिया गया।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों द्वारा खराब मौसम और प्रतिबंधों के बावजूद मूसा के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के लिए पुलवामा जिले के त्राल के नूरपोरा गाँव में हजारों लोग एकत्र हुए। पुलिस ने मूसा के शव को उसके परिवार को शुक्रवार सुबह सौंप दिया था।

श्रीनगर, पुलवामा, शोपिया, अवंतीपुरा और कश्मीर घाटी समेत कुछ अन्य जगहों पर विरोध प्रदर्शन हुए। घाटी के सभी शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया गया। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मोबाइल सेवाएँ बाधित कर दी गईं।

सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई जगहों पर भारी सुरक्षाबल तैनात किया गया है। गुरुवार रात को जैसे ही मूसा के मरने की खबरें फैलीं वैसे ही श्रीनगर और पुलवामा के पुराने शहर की सड़कों पर लोग निकल आए थे।

जुलाई 2016 में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की हत्या के बाद कश्मीर में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ था। वैसी स्थिति फिर न उत्पन्न हो इसलिए कड़े प्रतिबंध और सुरक्षा के इंतजाम किए हैं।