समाचार
गोरक्षकों ने नहीं की जम्मू-कश्मीर में मुसलमान की हत्या, फैलाई गई झूठी खबर

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने उन खबरों को निराधार बताया है, जिसमें कहा जा रहा था कि राज्य के बदरवाह इलाके के नईम शाह नाम के व्यक्ति की हत्या कथित रूप से पशु तस्करी के दौरान गौरक्षकों ने कर दी थी।

बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के अनुसार, झूठी खबर फैलाने की वजह से क्षेत्र में हिंसा भड़क गई थी। पुलिस अधिकारियों को कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के भद्रवाह शहर में कर्फ्यू लगाना पड़ा था।

राज्य के पुलिस प्रशासन ने संवेदनशील मुद्दे की गैरजिम्मेदाराना रिपोर्टिंग की निंदा की है। साथ ही इस बात पर फटकार लगाई है कि जांच में अब तक गौरक्षकों के बारे में ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है।

जमीनी तौर पर स्थिति को नियंत्रित करने के लिए प्रशासन को सेना की भी सहायता लेनी पड़ी। अधिकारियों ने भड़काने वाले पोस्ट और चित्रों के प्रसार को रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएँ वहां बाधित करवा दी हैं।

जम्मू-कश्मीर पुलिस का कहना है कि हत्या के मामले में पाँच लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। फिलहाल अभी कर्फ्यू में किसी तरह की ढील नहीं दी जाएगी।