समाचार
पी चिदंबरम की ईडी के सामने आत्मसमर्पण की याचिका खारिज, 19 तक रहेंगे तिहाड़ में

मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार के मामले में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम की जाँच के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने आत्मसमर्पण की अर्जी को दिल्ली की विशेष अदालत ने खारिज कर दिया। अदालत से राहत न मिलने पर फिलहाल वह अभी 19 सितंबर तक तिहाड़ जेल में ही रहेंगे।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, चिदंबर की याचिका पर सुनवाई के दौरान ईडी ने कहा, “वह अभी जेल में हैं। इस वजह से सबूतों के साथ छेड़छाड़ नहीं हो सकती है। इस मामले में 6 अन्य लोगों से भी पूछताछ करनी है इसलिए चिदंबरम को बाद में गिरफ्तार करना चाहेंगे।”

भ्रष्टाचार के मामले में चिदंबरम ने नियमित जमानत के लिए उच्च न्यायालय में अर्जी दाखिल की है। इस पर अदालत ने सीबीआई से 7 दिन के अंदर जवाब मांगा है। मालूम हो कि दिल्ली हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत अर्जी खारिज होने पर सीबीआई ने उन्हें 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। 5 सितंबर को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में उन्हें तिहाड़ जेल भेज दिया गया था।

हाल ही में चिदंबरम को दिल्ली उच्च न्यायालय ने उनके घर का बना खाना खाने की अनुमति नहीं दी थी। अदालत ने कहा था, “किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जा सकता है, सब कैदी एक समान होते हैं। पी चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में हैं।”