समाचार
बुलंदशहर में नाबालिग की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या करने वालों को फाँसी की सज़ा

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में नाबालिग छात्रा को अगवा करके सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या करने के मामले में न्यायालय ने तीन आरोपियों को दोषी मानते हुए उन्हें फाँसी की सज़ा सुनाई है। साथ ही उन पर अर्थदंड भी लगाया गया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, अपर सत्र न्यायाधीश राजेश पराशर ने मामले में निर्णय सुनाते हुए तीनों अभियुक्तों दिलशाद, इज़राइल और जुल्फिकार को दोषी माना है। इससे पूर्व, पुलिस ने जाँच पूरी करने के बाद तीनों आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो न्यायालय में आरोप-पत्र दाखिल किया था।

बता दें कि 2 जनवरी 2018 को शहर के चांदपुरा रोड की रहने वाली इंटरमीडिएट की 17 वर्षीय छात्रा का कार सवार तीन युवकों ने अपहरण कर लिया था। आरोपियों ने पहले छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और फिर उसकी हत्या कर शव को दादरी ले जाकर नहर में फेंक दिया था।

बुलंदशहर पुलिस ने लंबी छानबीन के बाद घटना का खुलासा किया और सिकंदराबाद क्षेत्र के रहने वाले तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। मृतक छात्रा के परिवारीजन दोषियों को सज़ा मिलने को न्याय की जीत मान रहे हैं।