समाचार
बेनामी संपत्ति और काले धन के मामले में डीके शिवकुमार की हिरासत 17 सितंबर तक बढ़ी

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) में कर्नाटक कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार की हिरासत की अवधि 17 सितंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है। ईडी ने अदालत से कहा, “आरोपी कांग्रेसी नेता के पास 800 करोड़ की बेनामी संपत्ति और 200 करोड़ का काला धन है।”

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, ईडी की ओर से अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल केएम नटराज ने अदालत से कहा, “शिवकुमार ने पूछताछ के दौरान गोलमोल और औचित्यहीन जवाब दिए हैं। जाँच में पता चला है कि उनकी अधिकतर संपत्तियाँ बेनामी हैं। ईडी को अब जाँच के दौरान जमा किए दस्तावेजों को रखकर शिवकुमार से पूछताछ करनी है। दूसरे कुछ आरोपियों से भी उनका आमना-सामना करवाना है, जिनके बयान जाँच एसेंजी ने दर्ज किए हैं।

ईडी की दलीलों का विरोध करते हुए शिवकुमार के वकील ने कहा, “शिवकुमार की सेहत ठीक नहीं है। उनका अस्पताल में रहना ज़रूरी है। शिवकुमार कानून का पालन करने वाले व्यक्ति हैं इसलिए उन्हें अच्छे से अच्छा अस्पताल मुहैया करवाया जाए।”

इस पर विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहार ने कांग्रेस नेता की हिरासत की अवधि 5 दिन और बढ़ा दी। मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में शिवकुमार को 3 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था। उनकी हिरासत की अवधि 13 सितंबर को खत्म हो रही थी, जिसे अब बढ़ा दिया गया है।

अपनी गिरफ्तारी पर डीके शिवकुमार ने कहा, “यह पूरी कार्रवाई बदले की राजनीति से प्रेरित है। मेरे खिलाफ इनकम टैक्स और ईडी के मामले झूठे लगाए गए हैं।”