समाचार
उपभोक्ता के अधिकार मजबूत- गलत विज्ञापन करने पर फिल्मी हस्तियों पर भी कार्रवाई

अगर फिल्मी या किसी बड़ी हस्ती द्वारा किए जा रहे विज्ञापन के दावे झूठे निकले तो दोषी कंपनी के साथ उसका प्रचार करने वाले के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जा सकेगी। ग्राहकों के हितों को ध्यान में रखते हुए राज्यसभा में उपभोक्ता संरक्षण विधेयक 2019 पारित हो गया।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, विधेयक में उत्पादों का भ्रामक प्रचार करने पर हस्तियों पर जुर्माना सहित जेल जाने की कार्रवाई का भी प्रावधान है। उत्पाद की गलत शिकायत पर बैच की जाँच की जाएगी। उत्पादों की गुणवत्ता को लेकर आने वाली शिकायतों के निवारण के लिए एक तंत्र विकसित किया जाएगा।

यह विधेयक राज्यसभा से पहले लोकसभा में भी पारित हो चुका है। उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा, “सरकार उपभोक्ताओं के अधिकारों को मजबूत करने के लिए यह विधेयक लेकर आई है।” वहीं, विरोध के बाद इस विधेयक से हेल्थ केयर का हिस्सा हटा दिया गया है।

बॉलीवुड अभिनेत्री और सपा सांसद जया बच्चन ने कहा, “सिर्फ फिल्मी हस्तियों को ही सजा क्यों? विधेयक में सभी तरह के दोषियों के लिए सजा का प्रावधान है। मीडिया और फिल्मी हस्तियाँ निर्माता द्वारा लिखित जानकारी के बाद सामग्री का प्रचार करें। ऐसा नहीं करते हैं, तो वे खुद जिम्मेदार होंगे।”