समाचार
तेलंगाना में कांग्रेस को झटका, 18 में से 12 विधायक चाहते हैं टीआरएस में विलय

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की बुरी तरह हार के बाद पार्टी के लिए एक और विकट स्थिति तेलंगाना में उत्पन्न हो गई है। यहाँ पार्टी के 18 में से 12 विधायकों ने विधान सभा अध्यक्ष पोचाराम श्रीनिवास से भेंट कर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरआएस) में विलय होने की बात कही।

वर्तमान नियम के अनुसार किसी भी विलय के लिए कम से कम दो-तिहाई विधायक तैयार होने चाहिए और तेलंगाना के कांग्रेस विधायक इस पैमाने पर खरे उतरते नज़र आ रहे हैं। विधान परिषद के चार में से तीन कांग्रेस सदस्य पहले ही टीआरएस में सम्मिलित हो चुके हैं।

पहले कांग्रेस विधायकों की संख्या 19 थी लेकिन पार्टी के राज्य अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी के पदत्याग के बाद अब यह विलय संभव है। कुछ लोगों का आरोप है कि धन के प्रलोभन में इतने सारे विधायक टीआरएस की ओर जाने के लिए इच्छुक हैं।

दिसंबर 2018 में हुए विधान सभा चुनावों में भी कांग्रेस को पराजय का सामना करना पड़ा था।