समाचार
तनिष्क के विवादास्पद विज्ञापन पर शशि थरूर ने “हिंदुत्व कट्टरपंथियों” पर साधा निशाना

तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस के सांसद शशि थरूर मंगलवार (13 अक्टूबर) को विवादास्पद तनिष्क विज्ञापन के समर्थन में आगे आए। उन्होंने “हिंदुत्व कट्टरपंथियों” को विज्ञापन का बहिष्कार करने का दोषी ठहराया क्योंकि यह हिंदू-मुस्लिम एकता को उजागर करता है।

थरूर ने अपने ट्वीट में कहा, “अगर हिंदू-मुस्लिम एकत्वम उनका बहुत अपमान करते हैं तो उन्हें खुद भारत का बहिष्कार करना चाहिए, जिसका दावा है कि वे हिंदू-मुस्लिम एकता को सबसे लंबे समय तक जीवित रखने वाले प्रतीक के रूप में है।

जिस विज्ञापन में मुस्लिम घराने में हिंदू दुल्हन की गोद भराई दिखाई गई थी, उसे सोशल मीडिया पर बड़ी नाराज़गी के बाद तनिष्क ने कल (12 अक्टूबर) हटा दिया था।

सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं द्वारा उठाई गईं कुछ आपत्तियों में कंपनी से यह भी सवाल किया गया कि क्या मुस्लिम दुल्हन के साथ हिंदू परिवार की यह रस्म को आप दिखा पाएँगे।

इस विज्ञापन को कई लोगों ने उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में पति द्वारा कथित रूप से इस्लाम में धर्मपरिवर्तन से इंकार करने के बाद एक हिंदू लड़की के साथ किए गए क्रूर व्यवहार के संदर्भ में एक क्रूर मजाक की भी संज्ञा दी है।

कुछ ने विज्ञापन में दिखाए गए समारोह में हिंदू प्रतीकों और मूर्तियों की कमी पर भी सवाल उठाए। उन्होंने सवाल किया कि क्या विज्ञापन निर्माता कुछ सीमाओं को पार करने के लिए अनिच्छुक थे।