समाचार
डेफसिस ने डसॉ से ऐसे ही नहीं लिए पैसे, बनाईं राफेल की 50 प्रतिकृतियाँ- कंपनी का दावा

फ्रांसीसी मिडियापार्ट के दावों का खंडन करते हुए डेफसिस सॉल्यूशंस ने मंगलवार को एक बयान और कर चालान जारी करते हुए कहा कि डेफसिस ने डसॉ से ऐसे ही पैसे नहीं लिए थे। उसके बदले में राफेल की 50 प्रतिकृतियाँ भी बनाई थीं और जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वे पूरी तरह से निराधार हैं।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने एक बयान में कहा, “यह पूरी तरह से निराधार, बेबुनियाद और भ्रामक दावों के जवाब में है, जो मीडिया के कुछ वर्गों में दिखाई दे रहे हैं कि डेफसिस ने कभी भी राफेल विमानों के 50 प्रतिकृति मॉडल की आपूर्ति नहीं की है।”

इसमें कहा गया है कि रक्षा क्षेत्र की बड़ी कंपनी से प्राप्त खरीद ऑर्डर के आधार पर राफेल विमानों के 50 प्रतिकृति मॉडल डसॉ एविएशन को दिए गए थे। कंपनी ने कहा, “संबंधित अधिकारियों के पास इन मॉडलों की आपूर्ति से जुड़े आपूर्ति चालान, ई-वे बिल और जीएसटी रिटर्न विधिवत तरीके से जमा किए गए थे।”

मीडियापार्ट ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि डसॉल्ट समूह एएफए को एक भी दस्तावेज प्रदान करने में असमर्थ रहा था, जिसमें दिखाया गया था कि ये मॉडल मौजूद थे और वितरित किए गए थे। यहाँ तक कि उनकी एक तस्वीर भी नहीं थी। निरीक्षकों को संदेह था कि यह एक वित्तीय लेन-देन को छिपाने के लिए बनाई गई फर्जी खरीद थी।