समाचार
अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद प्रदेश के हर शिक्षक के दस्तावेज जाँचेगी योगी सरकार

उत्तर प्रदेश में 69,000 शिक्षकों की भर्ती में गड़बड़ी और अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी शिक्षकों के दस्तावेजों की जाँच कराने के लिए रविवार (14 जून) को समर्पित टीम गठित करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रदेश के हर शिक्षक के दस्तावेज जाँचने के आदेश दिए हैं।

शिक्षा विभाग में हो रही गड़बड़ियों पर रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर टीम-11 के साथ बैठक कर इस मुद्दे पर चर्चा की।

उन्होंने निर्देश दिए कि माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा, उच्च शिक्षा, कस्तूरबा गांधी और समाज कल्याण विभाग के सभी स्कूलों में जो शिक्षक नियुक्त हैं, उन सभी के दस्तावेजों की जाँच कराई जाए। इसके लिए समर्पित टीम टीम बनाई जाएगी। जहाँ भी कोई गड़बड़ी मिले, सख्त कार्रवाई की जाए।

बता दें कि कायमगंज जिले की सुप्रिया जाटव नाम की युवती अनामिका शुक्ला नाम से प्रदेश के 25 जिलों में बतौर शिक्षक तैनात थी। इस फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया था।

इसके बाद गोंडा जिले से एक महिला सामने आई। उसने खुद का असली नाम अनामिका शुक्ला बताया और अपने शैक्षिक दस्तावेजों के दुरुपयोग का आरोप लगाया। प्रिया जाटव और इस फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड गिरफ्तार कर लिए गए हैं।