समाचार
योगी सरकार की खिलौना नीति-2020 में 3 लाख रोजगार, चीन पर निर्भरता होगी कम

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई वाली सरकार ने चीन से खिलौनों के आयात की निर्भरता कम करने के लिए खिलौना नीति-2020 तैयार करवाई है। इसमें प्रदेश को खिलौना निर्माण का हब बनाने का खाका खींचा गया है। इसे जल्द लागू करने की तैयारी की जा रही है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, योगी सरकार का लक्ष्य 2025 तक खिलौना उद्योग में 20,000 करोड़ रुपये के निवेश और 3 लाख लोगों को रोजगार देना है। अगर ऐसा हुआ तो यह देश का पहला राज्य बनेगा, जहाँ खिलौना उद्योग के लिए अलग से नीति होगी।

नीति में खिलौना उद्योग में निवेश करने वाले उद्यमियों को कई सुविधाएँ दी जाएँगी। एमएसएमई विभाग इकाइयों द्वारा बनाए जाने वाले खिलौनों की डिजाइनिंग, प्रचार-प्रसार, मार्केटिंग के साथ निर्यात में सहयोग करेगा। उन्हें विश्वस्तरीय मेलों में प्रदर्शित किया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल ने कहा, “खिलौना नीति-2020 के लिए औद्योगिक संगठनों और विभागों से आपत्तियाँ और सुझाव मांगे गए हैं। जल्द ही नीति सरकार के पास स्वीकृति के लिए ले जाएगी। यमुना एक्सप्रेस-वे और झांसी में क्लस्टर व पार्क बनाने की तैयारी है।”

ग्लोबल मार्केट रिसर्च फर्म के आँकड़ों पर गौर करें तो देश में 90 प्रतिशत खिलौनों का आयात चीन से होता है। वैश्विक बाज़ार में भारत की हिस्सेदारी सिर्फ आधा प्रतिशत है।