समाचार
मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी पाँच उप-मुख्यमंत्रियों के बाद तीन राजधानियों पर कर रहे विचार

मंगलवार 17 दिसंबर को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने इशारा किया है कि जल्द ही राज्य की तीन राजधानियाँ हो सकती हैं क्योंकि उनकी सरकार विकेंद्रीकरण को बढ़ावा देने पर विचार कर रही है।

इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार मुख्यमंत्री रेड्डी ने राज्य की विधानसभा में चर्चा में भाग लेते हुए बताया कि मौजूदा राजधानी अमरावती विधान राजधानी के रूप में काम कर सकती है जबकि बंदरगाह वाला शहर विशाखापत्तनम राज्य की कार्यकारी राजधानी और कुरनूल शहर राज्य की न्यायिक राजधानी के रूप में काम कर सकता है।

रेड्डी ने ज़ोर देते हुए कहा कि राज्य के लिए तीन राजधानियों की आवश्यकता थी, और इस पर अंतिम फैसला तभी होगा जब विशेषज्ञ समिति इस विषय पर अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंपेगी।

मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने चिंता व्यक्ति की कि अमरावती को पूर्ण राजधानी के रूप में विकसित करने के लिए आवश्यक 1 लाख करोड़ रुपये की पूंजी की आवश्यकता कैसे पूरी होगी।