समाचार
हिमंत बिस्वा सरमा ने मुसलमानों से उचित परिवार नियोजन मानदंडों को अपनाने को कहा

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने गुरुवार (10 जून) को राज्य में मुस्लिम समुदाय से गरीबी को कम करने और सामाजिक समस्याओं को नियंत्रित करने के लिए उचित परिवार नियोजन मानदंडों को अपनाने का आग्रह किया। साथ ही कहा कि राज्य सरकार जनसंख्या नियंत्रण को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ और कदम उठाएगी।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री ने गुवाहाटी में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा, “हम जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के साथ काम करना चाहते हैं। गरीबी, भूमि अतिक्रमण आदि मुद्दों का मूल कारण अनियंत्रित जनसंख्या वृद्धि है। मुझे लगता है कि अगर मुस्लिम समुदाय उचित परिवार नियोजन मानदंड अपनाता है तो हम असम में बहुत सी सामाजिक समस्याओं को समाप्त कर सकते हैं।”

उन्होंने कहा, “असम सरकार कुछ और कदम उठाने जा रही है, जिससे जनसंख्या नियंत्रण को प्रोत्साहित किया जा सके। मैं इस पर ऑल असम माइनॉरिटी स्टूडेंट्स यूनियन (एएएमएसयू) और विपक्षी पार्टी ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) के साथ काम करना चाहता हूँ। इस पर नया विचार होना चाहिए। कोई भी समुदाय या वर्ग हमारा दुश्मन नहीं है और हम सभी का विकास चाहते हैं।”

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा ने आगे कहा, “हम मुस्लिम महिलाओं और जन्म नियंत्रण पहल के बीच शिक्षा के प्रसार के लिए सामुदायिक समर्थन चाहते हैं। आप जब तक अपनी जनसंख्या को नियंत्रित नहीं करेंगे, तब तक गरीबी कम नहीं होगी। मुझे उम्मीद है कि समुदाय इस पर सरकार के विचारों का सम्मान करेगा और इस दिशा में काम करेगा।”